Uncategorized

कंप्यूटर का इतिहास – History of Computer in hindi

computer in hindi, basic computer knowledge, history in hindi, learn computer in hindi, definition of computer, computer hindi name, computer ki jankari,  computer ka mahatva

कंप्यूटर का इतिहास हिंदी में- एक कंप्यूटर एक उपकरण है जिसे कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के माध्यम से स्वचालित रूप से अंकगणितीय या तार्किक संचालन के अनुक्रमों को पूरा करने के निर्देश दिए जा सकते हैं। आधुनिक कंप्यूटरों में संचालन के सामान्यीकृत सेटों का पालन करने की क्षमता होती है, जिन्हें प्रोग्राम कहा जाता है। ये प्रोग्राम कंप्यूटरों को कार्यों की एक विस्तृत श्रृंखला करने में सक्षम बनाता है।

कंप्यूटरों को विभिन्न प्रकार के औद्योगिक और उपभोक्ता उपकरणों के लिए नियंत्रण प्रणाली के रूप में उपयोग किया जाता है। इसमें माइक्रोवेव ओवन और रिमोट कंट्रोल, औद्योगिक रोबोट और कंप्यूटर-एडेड डिज़ाइन फैक्ट्री डिवाइसेज, और सामान्य कंप्यूटर, जैसे मोबाइल कंप्यूटर और स्मार्टफोन, जैसे मोबाइल डिवाइस, सामान्य विशेष उद्देश्य डिवाइस शामिल हैं।

कंप्यूटर का इतिहास – History of Computer in hindi

हिस्ट्री ऑफ़ कंप्यूटर जनरेशन – computer generations history in hindi

शुरुआती कंप्यूटर को केवल गणना उपकरणों के रूप में इस्तेमाल के लिए बने थे। इससे पहले प्राचीन काल से, सरल मैनुअल डिवाइस जैसे अबाकस से लोग अंकीय गणना किया करते थे।

अबाकस एक पुराने समय में गणना करने के लिए इस्तेमाल होता था। 

अबाकस एक पुराने समय में गणना करने के लिए इस्तेमाल होता था। 

लेकिन औद्योगिक क्रांति के आने से कुछ यांत्रिक उपकरणों को लंबे समय तक कठिन कार्यों को करने के लिए अपने आप चलना जरुरी था। इसे उपकरण जो स्वचलित रूप से बिना रुके काम को कर सके उनकी जरुरत महसूस हुई। और इस जरुरत ने नए नए अविष्कारों को जन्म दिया।  20 वीं शताब्दी की शुरुआत में कई परिष्कृत विद्युत मशीनों ने विशेष एनालॉग गणना करनी शुरू कर दी थी।

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान पहली डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक गणना मशीन

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान पहली डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक गणना मशीन विकसित की गई थीं। तब से कंप्यूटर की गति, शक्ति और बहुमुखी प्रतिभा नाटकीय रूप से बढ़ती ही जा रही है।

  • पारंपरिक रूप से, एक आधुनिक कंप्यूटर में कम से कम एक प्रोसेसिंग एलिमेंट होता है, आमतौर पर एक सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (सीपीयू), और मेमोरी के कुछ रूप होते हैं।
  • प्रोसेसिंग एलिमेंट अंकगणितीय और लॉजिकल ऑपरेशन्स करता है, और इंडेक्स्ड और कण्ट्रोल यूनिट स्टोर्ड जानकारी के जवाब में ऑपरेशन्स के क्रम को बदल सकती है।
  • पेरीफेरल उपकरणों में इनपुट डिवाइस (कीबोर्ड, माउस, जॉयस्टिक, इत्यादि), आउटपुट डिवाइस (मॉनीटर स्क्रीन, प्रिंटर इत्यादि), और कुछ ऐसे भी इनपुट / आउटपुट डिवाइस शामिल हैं जो दोनों कार्यों को एक्सक्यूट करते हैं (उदाहरण के लिए टचस्क्रीन)।
  • पेरिफेरल इक्विपमेंट बाहरी स्रोत से जानकारी को रिकवर करने की अनुमति देते हैं और वे संचालन के परिणाम को सहेजने और रिकवर करने में सक्षम होते हैं।

कंप्यूटर शब्द का मतलब

ऑक्सफोर्ड अंग्रेजी शब्दकोश के अनुसार, 1613 में अंग्रेजी लेखक रिचर्ड ब्राथवाइट द्वारा द योंग मैन्स ग्लेनिंग्स नामक पुस्तक में “कंप्यूटर” शब्द का पहला उपयोग हुआ था।

“द यंग मैन ग्लीनिंग्स”‘ में पाया गया। मैंने समय के सबसे सही कम्प्यूटरों को और धरा पे जन्मे सर्वोत्तम अंक गणितज्ञ को पढ़ा है।”

इस शब्द का उपयोग मानव कंप्यूटर, के लिए किया गया था। यानी एक ऐसा एक व्यक्ति जो गणना और संगणना दोनों करने में सक्षम है।
और इस शब्द को लोग 20 वीं शताब्दी के मध्य तक इसी मतलब से जानते थे।

लेकिन 19वीं शताब्दी के अंत में शब्द का मतलब बदल गया, अब कंप्यूटर का मतलब एक आदमी नहीं बल्कि एक ऐसी मशीन से है, जो गणनाओं को पूरा करती है।

कंप्यूटर का इतिहास – computer history in hindi

20 वीं शताब्दी से पहले के कंप्यूटर

  • मानव के लिए गणना करना शुरू से ही मुश्किल वाला काम था। जिसे वह किसी न किसी की मदद से करता था। जैसे हाथों की उंगलियों की मदद से गिनती करना। हजारो सालो से इस तरीके का उपयोग होता रहा है।
  • आज भी हम इस तकनीक का सहारा लेते है। लेकिन कैलकुलेशन ज्यादा करनी होती है तो उँगलियों से काम नहीं चलता है फिर कुछ और जुगाड़ लगाना पड़ता है।
  • ठीक इसी तरह पुराने समय में लोग अपने अनाज, पशु आदि की गणना करने के लिए हड्डियों, या मिटटी के शंकु आदि बनाते थे। और किसी चीज़ में फसा देते थे। और अपनी गिनती याद रखते थे। जैसे : गिनती छड़ का उपयोग एक उदाहरण है।

अबाकस प्रारंभ में अंकगणितीय कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता था। रोमन एबैकस 2400 ईसा पूर्व के रूप में बेबीलोनिया में उपयोग किए जाने वाले उपकरणों से विकसित किया गया था।

कंप्यूटिंग डिवाइस का आविष्कार – Invention of computing device in hindi

समय के साथ काम का ज्यादा और जल्दी करने की होड़ ने तरह तरह के कंप्यूटिंग डिवाइस का आविष्कार, विकसित किया गया.

कंप्यूटर का इतिहास (History of Computer) 1623 ई.:

जर्मन गणितज्ञ विल्हेम शीकार्ड ने प्रथम यांत्रिक कैलकुलेटर का विकास किया। यह कैलकुलेटर जोड़ने, घटाने, गुणा व भाग में सक्षम था।

कंप्यूटर का इतिहास 1642 ई.:

फ्रांसीसी गणितज्ञ ब्लेज़ पास्कल ने जोड़ने व घटाने वाली मशीन का आविष्कार किया।

कंप्यूटर का इतिहास  1801 ई.:

फ्रांसीसी वैज्ञानिक जोसेफ मेरी जैकार्ड ने लूम (करघे) के लिए नई नियंत्रण प्रणाली का प्रदर्शन किया। उन्होंने लूम की प्रोग्रामिंग की, जिससे पेपर कार्डों में छेदों के पैटर्न के द्वारा मशीन को मनमुताबिक वीविंग ऑपरेशन (weaving operation) का आदेश दिया जाना सम्भव हो गया।

कंप्यूटर का इतिहास  1833-71 ई.:

ब्रिटिश गणितज्ञ और वैज्ञानिक चार्ल्स बैबेज ने जैकार्ड पंच-कार्ड प्रणाली का प्रयोग करते हुए ‘एनालिटिकल इंजन’ का निर्माण किया। इसे वर्तमान कम्प्यूटरों का अग्रदूत माना जा सकता है। बैबेज की सोच अपने काल के काफी आगे की थी और उनके आविष्कार को अधिक महत्व नहीं दिया गया।

Mechanical computer

Mechanical computer

कंप्यूटर का इतिहास 1889 ई.:

अमेरिकी इंजीनियर हरमन हॉलेरिथ ने ‘Electro mechanical punch card tabulating system’ को पेटेंट कराया जिससे सांख्यिकी आँकड़े की भारी मात्रा पर कार्य करना सम्भव हो सका। इस मशीन का प्रयोग अमेरिकी जनगणना में किया गया।

Electro mechanical punch card tabulating system

Electro mechanical punch card tabulating system

कंप्यूटर का इतिहास  1941 ई.:

जर्मन इंजीनियर कोनार्डसे ने प्रथम पूर्णतया क्रियात्मक डिजिटल कम्प्यूटर Z3 का आविष्कार किया जिसे प्रोग्राम द्वारा नियंत्रित किया जा सकता था। Z3 इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटर नहीं था। यह विद्युतीय स्विचों पर आधारित था जिन्हें रिले कहा जाता था।

डिजिटल कम्प्यूटर Z3

डिजिटल कम्प्यूटर Z3

कंप्यूटर का इतिहास (History of Computer) 1942 ई.: आइओवा स्टेट कॉलेज के भौतिकविद जॉन विंसेंट अटानासॉफ और उनके सहयोगी क्लिफोर्ड बेरी ने प्रथम पूर्णतया इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटर के कार्यात्मक मॉडल का निर्माण किया जिसमें वैक्यूम ट्यूबों का प्रयोग किया गया था। इसमें रिले की अपेक्षा तेजी से काम किया जा सकता था। यह प्रारंभिक कम्प्यूटर प्रोग्रामेबल नहीं था।

first electronic computer eniac

first electronic computer eniac

कंप्यूटर का इतिहास 1944 ई.:

आईबीएम और हार्वर्ड यूनीवॢसटी के प्रोफेसर हॉवर्ड आइकेन ने प्रथम लार्ज स्केल ऑटोमेटिक डिजीटल कम्प्यूटर ‘मार्क-1’ का निर्माण किया। यह रिले आधारित मशीन 55 फीट लम्बी व 8 फीट ऊँची थी।

The world's first computer Mark I

The world’s first computer Mark I

1943 ई.:

ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जर्मन कोडों को तोडऩे के लिए इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटर ‘कोलोसस’ का निर्माण किया।

Colossus

Colossus

1946 ई.:

अमेरिकी सेना के लिए पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय में भौतिकविद् जॉन माउचली और इंजीनियर जे. प्रेस्पर इकेर्ट ने ‘इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटेड एंड कम्प्यूटर – इनिएक’ (ENIAC) का निर्माण किया। इस कमरे के आकार वाले 30 टन कम्प्यूटर में लगभग 18,000 वैक्यूम ट्यूब लगे थे। इनिएक की प्रोग्रामिंग अलग-अलग कार्य करने के लिए की जा सकती थी।

Electronic Numerical Integrated and Computer - eniac

Electronic Numerical Integrated and Computer – eniac

1951 ई.:

इकेर्ट और माउचली ने प्रथम कॉमर्शियल कम्प्यूटर ‘यूनिवेक’ (UNIVAC) का निर्माण किया (सं.रा. अमेरिका)।

UNIVAC

UNIVAC

1969-71 ई.:

बेल लेबोरेटरी में ‘यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम’ का विकास किया गया।

History of Computer 1971 ई.:

इंटेल ने प्रथम कॉमॢशयल माइक्रोप्रोसेसर ‘4004’ का विकास किया। माइक्रोप्रोसेसर चिप पर सम्पूर्ण कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग यूनिट होती है।

4004

Intel 4004

Vivo Mobile History In Hindi. विवो मोबाइल का इतिहास

1975 ई.:

व्यावसायिक रूप से प्रथम सफल पर्सनल कम्प्यूटर ‘MITS Altair 8800’ को बाजार में उतारा गया। यह किट फार्म में था जिसमें की-बोर्ड व वीडियो डिस्प्ले नहीं थे।

Personal Computer 'MITS Altair 8800

Personal Computer ‘MITS Altair 8800

History of Computer 1976 ई.:

पर्सनल कम्प्यूटरों के लिए प्रथम वर्ड प्रोग्रामिंग प्रोग्राम ‘इलेक्ट्रिक पेंसिल’ का निर्माण।

The first word programming program 'Electric Pencil

 

1977 ई.:

एप्पल ने ‘एप्पल-II’ को बाजार में उतारा, जिससे रंगीन टेक्स्ट और ग्राफिक्स का प्रदर्शन संभव हो गया।

Apple-II

Apple-II

History of Computer 1981 ई. :

आई बी एम ने अपना पर्सनल कम्प्यूटर बाजार में उतारा जिसमें माइक्रोसॉप्ट के DOS (डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम) का प्रयोग किया गया था।

IBM first personal computer

IBM first personal computer

1984 ई.:

एप्पल ने प्रथम मैकिंटोश बाजार में उतारा। यह प्रथम कम्प्यूटर था जिसमें GUI (ग्राफिकल यूज़र इंटरफेस) और माउस की सुविधा उपलब्ध थी।

The History of the Apple Macintosh

Apple Macintosh with mouse

1990 ई.:

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने ग्राफिकल यूज़र इंटरफेस का प्रथम वजऱ्न ‘विंडोज़ 3.0’ बाजार में उतारा।

विंडोज़ 3.0

विंडोज़ 3.0

1991 ई.:

हेलसिंकी यूनीवर्सिटी के विद्यार्थी लाइनस टोरवाल्ड्स ने पर्सनल कम्प्यूटर के लिए ‘लाइनेक्स’ का आविष्कार किया।

1996 ई.:

हाथ में पकड़ने योग्य कम्प्यूटर ‘पाम पाइलट’ को बाजार में उतारा गया।

Palm pilot

Palm pilot

2001 ई.:

एप्पल ने मैकिंटोश के लिए यूनिक्स आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम ‘Mac OS X’ को बाजार में उतारा।

2002 ई.:

कम्प्यूटर इंडस्ट्री रिसर्च फर्म गार्टनेर डेटा क्वेस्ट के अनुसार 1975 से वर्तमान तक मैन्यूफैक्चर्ड कम्प्यूटरों की संख्या 1 अरब पहुँची।

2005 ई.:

एप्पल ने घोषणा की कि वह 2006 से अपने मैकिंटोश कम्प्यूटरों में इंटेल माइक्रोप्रोसेसरों का प्रयोग आरंभ कर देगा।

Intel microprocessorsIntel microprocessors

Intel microprocessors

Best laptop price online

[content-egg module=Amazon template=list]

कंप्यूटर का इतिहास हिंदी में

[wpsm_reviewbox title=”कंप्यूटर का इतिहास ” description=”कंप्यूटर (अन्य नाम – संगणक, कंप्यूटर, परिकलक) एक अभिकलक यंत्र (programmable machine) है जो दिये गये गणितीय तथा तार्किक संक्रियाओं को क्रम से स्वचालित रूप से करने में सक्षम है।” score=”4.8″ ]

About the author

chip-level

I develop websites and content for websites related to high tech from around the world. See more pages and content about technology such as Computer and other IT developments around the world. You can follow the other websites as well and search this website for more information on mobile phones and other any components.

4 Comments

Leave a Comment