Basic Electronics

विद्युत की परिभाषा क्या है

विद्युत धारा क्या है? विद्युत धारा का SI मात्रक

जब आप कभी किसी बिजली से चलने वाले उपकरण देखते है| तो आपके मन में यह प्रश्न जरुर आता होगा| कि ये विधुत हैं क्या चीज?सच कहे तो यह भी प्रकाश,ऊष्मा कि ही तरह एक ऊर्जा है| जिसे अपनी आँखों से तो नही देख् सकते लेकिन इसके प्रभाव को प्रकाश, घुऋणं,गतिज़,ऊष्मा, चुम्बकिय ऊर्जा जैसे बहुत सारे कार्यों को महसूस जरूर कर सकते है| कहने का मतलब यह हैं कि इसके प्रभाव से इसके होने का पता लगाया जा सकता हैं|

चालाक में होने वाले इलेक्ट्रोन के बहाव को ही विधुत धारा कहते हैं| वैसे इसके बहाव को देखा नही जा सकता लेकिन इसके प्रभाव को जरूर महसूस किया जा सकता हैं| जब किसी चालक में इलेक्ट्रोन एक सिरे से दूसरे सिरे कि तरफ़ गति करते हैं| तो कहा जाता हैं| कि उस चालाक में विधुत धारा या करंट बह रही हैं|

विद्युत की परिभाषा क्या है

किसी भी चालक के सामान्य स्थिति में उनके अन्दर के इलेक्ट्रोन गतिमान नही रहते हैं|लेकिन चालाक के दोनों सिरों पर विधुत दबाव डाला जाता हैं  तो चालाक के अन्दर के इलेक्ट्रोन गति करते हुए चालक के एक सिरे से दुसरे सिरे कि ओर गति करने लगते हैं| चालाक के अन्दर इलेक्ट्रोनो के इसी बहाव को विधुत धारा या करंट कहते हैं|

विधुत धारा के प्रकार

विधुत धारा या करंट दो तरह के होते हैं|

  1. आल्टरनेटिंग करंट AC
  2. डायरेक्ट करंट DC

विद्युत आवेश

विद्युत आवेश कुछ उपपरमाणवीय कणों में एक मूल गुण है जो विद्युतचुम्बकत्व का महत्व है। आवेशित पदार्थ को विद्युत क्षेत्र का असर पड़ता है और वह ख़ुद एक विद्युत क्षेत्र का स्रोत हो सकता है।

आवेश पदार्थ का एक गुण है! पदार्थो को आपस में रगड़ दिया जाये तो उनमें परस्पर इलेक्ट्रोनों के आदान प्रदान के फलस्वरूप आकर्षण का गुण आ जाता है।

प्रकार

इस प्रकार हम आवेश को दो भागो में बाँट सकते है

  • धनावेश
  • ऋणावेश

विद्युत धारा का SI मात्रक क्या है?

विद्युत धारा एक अदिश राशि है। फिर भी इसे किसी परिपथ में तीर युक्त रेखाओं से प्रदर्शित किया जाता है। SI पद्धति में विद्युत धारा का मात्रक एंपियर है।

इसका अन्य मात्रक कुलाम प्रति सेकंड भी है।

यदि किसी चालक में t समय में Q आवेश प्रवाहित होता है, तो विद्युत धारा
I = Q / t

1 एम्पियर =1000 मिली एम्पियर

1 मिली एम्पियर = 1000 माइक्रो एम्पियर

1 एम्पियर = 1 कुलाम / 1 सेकंड

यदि किसी चालक में 1 सेकंड में 1 कूलाम आवेश प्रवाहित होता है तो, उस में बहने वाली धारा का मान 1 एंपियर होता है।

Read more post

Sending
User Review
0 (0 votes)

About the author

chip-level

I develop websites and content for websites related to high tech from around the world. See more pages and content about technology such as Computer and other IT developments around the world. You can follow the other websites as well and search this website for more information on mobile phones and other any components.

1 Comment

Leave a Comment