योनि की बदबू Gharelu Nuskhe Vaginal itching or vaginal Sag

vaginal odor causes, vaginal odor and discharge, How to Get Rid Of Vaginal Odor with Home Remedies, Tried Home Remedies for Eliminating Vaginal Odor,  Ways to Get Rid of Vaginal Odor Fast योनि की बदबू

योनि की खुजली या योनि कण्डु Vaginal itching or vaginal Sag


 रोगों के निवारण के लिए पहले कारण का पता लगाना बहुत जरुरी है तो इस योनि के रोग खुजली का भी कारण जानना बेहद आवश्यक है।

जैसा कि इसका नाम है खुजली तो खुजली पैदा होती है संक्रमण से अर्थात Infection से औऱ यह Infection पैदा होता है गंदगी से यानि सफाई न करने से अगर आप रोजाना अपने शरीर के बाहरी हिस्से की भी सफाई नही करते तो भी आपके Khujji होने लगती है । फिर यह तो वह हिस्सा है जो बेहद संवेदनशील है - Fragile - यहाँ Bacteria and fungus का गढ़ होता है है तो यहाँ की सफाई तो वहुत ही जरुरी कार्य है । सफाई न होने से बहुत से रोग पैदा होते है जैसे Syphilis, Puymeh, or syphilis, आदि यौन रोग (Venereal disease) रक्त विकार(Blood disorders) आदि अन्य रोग और इन्ही रोगों के कारणों से एक नया रोग पैदा हो जाता है जिसका नाम है yoni ki jalan (Vaginal itching) जो देखने में भी बुरी लगती है कोई स्त्री या पुरुष यदि गुप्तागों(Female or male Privat body Parts) को सामाजिक परिवेश में खुजा रहा होता है साधारणतया हँसी का पात्र बन जाता है।

सफाई के अलाबा और भी कई कारण हैं जिनके कारण योनि में खुजली (Vaginal itching) हो सकती है। जिनमे कब्ज बनी रहना तथा पुरुष साथी को कोई गुप्त रोग यथा उपदंश, फिरंग,या फिर उसके गुप्तांग में संक्रमण का होना आदि और एसे पुरुष से संसर्ग करना भी स्त्री के लिए योनि की खुजली (Vaginal itching) का कारण हो सकता है।

योनि में फफूँद,बैक्टीरिया आदि भी संक्रमण कर देते हैं । योनि की दीबारों (The walls of the vagina) से एक प्रकार का एक द्रव या स्राव निकलता है जो लैक्टिक अम्ल मे परिवर्तित होकर योनि को संक्रमण से बचाता है।परन्तु जब इन बैक्टीरियाओं की संख्या ज्यादा हो जाती है तो यह स्राव भी इनसे लड़ते -2 समाप्त हो जाता है फलस्वरुप बैक्टीरिया या फफूँद का प्रकोप बढ़ जाता है। तब योनि के गीली तथा गर्म होने के कारण यहाँ बैक्टीरिया आदि को अपने रहने लायक माहौल मिल जाता है परिणामस्वरुप जलन और जलन को खुजाने के कारण जख्म पैदा हो जाती है।

इस रोग में योनि मार्ग में लाल दाने या जलन हो सकती है।वैसे यह रोग आमतौर पर ज्यादातर स्त्रियों को अपने गुप्तांग की समुचित सफाई न रखने से ही होता है।

लक्षण :

  1. गुप्तांग में जलन Genital irritation.
  2. गुप्तांग में खारिश, लालिमा Genital itching, redness.
  3. गुप्तांग से मछली की बदबू आना  Coming Fish Smell from the genitals.

गुप्तांग की बदबू से बचने के घरेलू उपाय : Home remedies to escape the smell of the genitals.

  1. खूब पानी पियें (Drink More Water) - गुप्तांगो में बदबू से निजात पाने के लिये आपको प्रतिदिन 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिये। पानी शरीर से प्राकृतिक रूप से नुकसानदेह विषपदार्थों और जीवाणुओं को हटाने के साथ-साथ उपापचयी सक्रियता बढ़ाता है। पानी शरीर से अतिरिक्त शर्करा को भी हटाता है क्योंकि शर्करा गुप्तांगो में बदबू का प्रमुख कारण माना जाता है।
  2.  दही (yogurt) - दही खाने से गुप्तांगो में बदबू को नियन्त्रित किया जा सकता है। इसमें लैक्टोबेसिलस की मात्रा अधिक होती है जो गुप्तांगो के पीएच (अम्लियता) को सन्तुलित करता है। आप गुप्तांगो में दही को लगा भी सकती हैं। रूई का फाहा लेकर उसे पानी से पतले किये हुये दही में फूल जाने दें। फिर इस फाहे को गुप्तागों में 5 मिनट के लिये रखें। इसके बाद गुप्तांगों को ठंडे पानी से भलीभाँति धुल लें।
  3. चाय के पेड़ का तेल (Tea tree oil) - चाय के पेड़ का तेल गुप्तांगो की बदबू दूर करने का सर्वश्रेष्ठ उपाय है। यह एक बेहतरीन प्रतिकवक और प्रतिजीवाणु के रूप प्राकृतिक उपचार है। इसे दो चम्मच लेकर पानी मिलाकर पतला कर ले। अब इसमें रूई के फाहे को भिगोकर कुछ मिनटों के लिये गुप्तांगों में रखें। यह प्रकिया नहाने से एक घण्टा पहले और हफ्ते भर दैनिक रूप से करें। यह गुप्तांगो में बदबू से निजात पाने की अच्छी बूटी है।
  4.  मेथी (Fenugreek) - दो चम्मच मेथी के बीज, एक गिलास पानी में रात भर के लिये भिगो दें। अगली सुबह उठने के बाद नाश्ते से पहले छानकर पानी को पी लें। इस उपचार को दो हफ्ते के लिये दोहरायें। मेथी गुप्तांगो में बदबू से निजात पाने की सबसे अच्छी बूटियों में से एक है। अगर नियमित रूप से सेवन किया जाये, तो यह महिलाओं में हार्मोन स्तर को सुधारने के साथ-साथ मासिक चक्र को नियमित करने में भी सहायक है।
  5. लहसुन (Garlic)- लहसुन का ताजा लेप बनाकर गुप्तांगों की दीवारों पर लगायें। 8 से 10 मिंनट के लिये लगा रहने दें। इसके बाद नहा लें। लहसुन एक प्रभावशाली प्रतिकवक और प्रतिजीवाणु कारक है जो कि गुप्तांगो में बदबू उत्पन्न करने वाले जीवाणुओं से लड़ने में सहायक है।
  6. नीम का पानी (Neem water) - गुप्तांगो में बदबू से निपटने के लिये नीम सर्वश्रेष्ठ उपायों में से एक है। कुछ नीम की पत्तियाँ पानी में उबाल लें। ठंडा होने के बाद इस पानी से गुप्तांगों को धुल लें। आप नीम के तेल का भी प्रयोग कर सकती हैं।
  7. सफेद सिरका (white vinegar) - गुनगुने पानी वाले बाथ टब में आधा कप सफेद सिरका तथा थोड़ा सा नमक डालें। इसमें अपने गुप्तांगों को भिगो दें। सफेद सिरका गुप्तांगो में बदबू की समस्या से काफी हद तक राहत देता है क्योंकि यह गुप्तांगों के पीएच (अम्लियता) को संतुलित करता है।
  8. सेब का सिरका (Apple vinegar) - सेब के सिरके में प्रतिजीवाणु के अच्छे गुण होते हैं इसलिये यह गुप्तांगो से बदबू हटाने का प्रभावशाली घरेलू उपचार है। गुनगुने पानी वाले बाथ टब में सेब के सिरका डाल कर अपने आप को भिगोयें। सेब का सिरका गुप्तांगों की अम्लीय प्रकृति को वापस लाता है जिससे बदबू दूर हो जाती है।
  9.  इत्र (Perfume) - अगर आप गुप्तांगो की बदबू से ग्रसित हैं तो घुटनों से लेकर अन्दर की ओर की जाँधों तक इत्र का छिड़काव करें जिससे अच्छी महक बनी रहे। इत्र से बदबू कम करने में काफी हद तक सहायता मिलती है।
  10. आँवला (Gooseberry) - गुप्तांगो से बदबू से निजात पाने के लिये आप आँवले को कच्चा या फिर अचार के रूप में ले सकती हैं। आँवला प्राकृतिक रूप से रक्तशोधक है और यह गुप्तांगो में बदबू फैलाने वाले रोग ल्यूकोरिया को भी होने से रोकता है।

यदि आप गुप्तांग की समुचित और उपयुक्त देखभाल चाहती हैं - तो इसके लिए pH बैलेंस्ड उत्पाद ही श्रेष्ठकर होगा - जो गुप्तांग की सफाई के साथ साथ गुप्तांग का ध्यान भी रखता है - हालांकि साबुन से भी सफाई की जाती है मगर साबुन अल्कली बेस के कारण सम्बंधित जगह से pH बैलेंस बिगाड़ देता है जिससे नतीजे और भी भयावह हो सकते हैं।

loading...
Check your domain ranking
..

कोई टिप्पणी नहीं

☻यदि आपकी कोई कंप्यूटर लैपटॉप या मोबाइल से सम्बंधित कोई समस्या है। तो आप मुझे कमेंट कर सकते है।
☻समस्या का जल्दी निवारण किया जायेगा।