Menu

What is peer to peer Network In Hindi | पियर टु पियर नेटवर्क

दो अथवा उससे अधिक ऐसे Computers का नेटवर्क जो कम्युनिकेशन और डाटा शेयर करने के  लिए एक जैसे प्रोग्राम अथवा प्रोग्राम के प्रकार का इस्तेमाल करते हैं। प्रत्येक कंप्यूटर अथवा पियर जिम्मेदारियों के हिसाब  से इसमें एक जैसा समझा जाता है और प्रत्येक उसी तरह काम करता है जैसे कि नेटवर्क में शामिल दूसरे Computer Client/Server Architecture  की तरह यहा एक File Server  की  जरूरत नही होती। हालकी  नेटवर्क उतनी अच्छी तरह काम नही करता जैसे कि क्लाइंट /सर्वर के तहत खासकर भारी लोड के वक्त काम करता है।

पियर टु पियर नेटवर्क Peer to Peer Network (P2P)

Peer to Peer Network (P2P) छोटे माहौल में सबसे अच्छा काम करता है। नेटवर्क के  सभी कंप्यूटरों को व्यक्तिगत प्रशासन और मेंटेनेंस की जरूरत होती है। यदि आपकी दस  से ज्यादा कंप्यूटर आपस में जोड़ने  हों तो पियर टु प्रिया नेटवर्क का प्रयोग  न करें।

पियर टु  पियर नेटवर्क में हर कंप्यूटर में दो लेन की जरुरत होती है इसमें सभी कंप्यूटर सीरीज में जुड़े होते है। यदि बीच का कंप्यूटर बंद है या ख़राब है तो उससे जुड़े कंप्यूटर का पहले वाले कंप्यूटर से Connection  बंद हो जाता है यह नेटवर्क सिर्फ दो कंप्यूटर को आपस में जोड़ने के लिए ठीक होता है।

 peer to peer Network
 peer to peer Network

 रिसोर्स Resource

रिसोर्स में Printer  और Modem  शामिल होते हैं। ये आमतौर पर पियर टु पियर नेटवर्क में एक कंप्यूटर से जुड़े होते हैं। यह कंप्यूटर इनके  प्रयोग को  नेटवर्क के दूसरे कंप्यूटरों से Share करता है।

प्रोग्राम Programs

ज्यादातर Software Applications  जैसे कि Word Processor  और Spreadsheet programs   जो पियर टु  पियर नेटवर्क में इस्तेमाल होते है, प्रत्येक  कंप्यूटर में इंस्टॉल होते हैं। यूजर इनका इस्तेमाल अपने कंप्यूटर में नेटवर्क के दूसरे यूजरों द्वारा तैयार डॉक्यूमेट को देखने और उनपर काम  करने के लिए कर सकता है।

परफॉरमेंस Performance

यदि कंप्यूटर रिसोर्सज का इस्तेमाल करता है तो उसकी परफॉरमेंस प्रभावित हो सकती है। उदाहरण के लिए यदि पियर टु पियर नेटवर्क में एक प्रिंटर  कंप्यूटर से जुड़ा  हुआ है तो  कंप्यूटर हर बार उस समय धीमी गति से कार्य करेगा जब कोई यूजर किसी Document  का Print  निकाल रहा हो।

इंस्टालेशन Installation

पियर टु पियर नेटवर्क में सभी कंप्यूटरों में  नेटवर्क Operating System  और सभी एप्लीकेशन  इंस्टॉल होनी चाहिए। नेटवर्क में शामिल प्रत्येक  कंप्यूटर इस तरह सेट  होना चाहिए कि वह अपने आप में खुद पूरी तरह सूचनाओं और रिसोर्सेज तक एक्सेज़ करने के काबिल हो। यूजर को यह सीखना चाहिए कि वह अपने कंप्यूटर की किस तरह Administrate  करे। पियर टु पियर नेटवर्क के लिए आमतौर पर कोई Dedicate System Administrator   नहीं होता।

रिसोर्सज तक एक्सेस करना  Access to Resources

पियर टु पियर नेटवर्क में यदि कंप्यूटर ठीक से काम  नहीं कर रहा है तो अन्य कंप्यूटर उसकी फाइलें और रिसोर्सेज तक एक्सेज नही कर पाएंगे। हालांकि अन्य कंप्यूटरों की फाइलें और रिसोर्सेज इससे प्रभावित नहीं होगी

सुरक्षा Network Security

पियर टु पियर नेटवर्क में यूजर फाइल  और इनफार्मेशन  को अपने खुद के कंप्यूटर में स्टोर करते हैं। कोई भी अन्य यूजर अपने कंप्यूटर का इस्तेमाल कर दूसरे यूजर के कंप्यूटर को Files  और Informations तक एक्सेज कर सकता है। इसलिए पियर टु पियर नेटवर्क में इंफोर्मशन कम सुरक्षित रहती हैं।

लागत  Network Cost

जब कम कंप्यूटर एक दूसरे से पियर टु पियर नेटवर्क के जरिए जुड़े होते है तो इसमें लागत  कम आती है लेकिन जैसे जैसे नेटवर्क बढ़ता  जता है, यह महंगा सौदा होता जाता है।

Read Also :

4 Comments
  1. saiyad zulfi August 2, 2017 / Reply
  2. saiyad zulfi August 2, 2017 / Reply
  3. Free Tips August 2, 2017 / Reply
  4. Unknown November 14, 2017 / Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *