laptop battery basic knowledge repair tips लैपटॉप में बैटरी विभाग

Laptop Battery Circuit  लैपटॉप में बैटरी विभाग

बिजली के न होने पर लैपटॉप ज्यादा समय तक चले।  इसके लिए लैपटॉप में बैटरी का इस्तेमाल किया जाता है।  लैपटॉप में Li-ion , Ni-Ca, Ni-MH बैटरी का उपयोग किया जाता है।  इन बैटरी के  Li-ion , Ni-Ca, Ni-MH सेल को सीरीज और Parallel  जोड़ कर लैपटॉप सर्किट के जरुरत के हिसाब से वाल्ट या करंट को बनाया जाता है।  आजकल की बैटरी में चार्जिंग, डिस्चार्जिंग मॉस्फेट, वाल्ट या करंट सेंस और रोम का प्रयोग किया जाता है।  जिससे बैटरी को सॉफ्टवेयर के माध्यम से मैनेज किया जा सकता है।
नीचे दिए गए बैटरी के ब्लॉक डायग्राम को देखे :

laptop battery pin details www.chip-level.com


बैटरी में सेल का प्रोयोग

किसी भी बैटरी को कई सेल को जोड़ कर बैटरी बनाई जाती है।  यह सेल लगभग 3.6v to 3.7v के होते है।  और इनकी रेटिंग ज्यादा से ज्यादा 2 एम्पेयर  होती है।

यह सेल सीरीज और समांतर (parallel) लगाये जाते है।

देखे चित्र।

Li-ion और Ni-MH सेल में अंतर


Li-ion Cell

  • इन सेलो की वाल्ट 3.6 to 3.7 के होते है 
  • इनका Ampere 0.1  से 2 तक होती है 
  • यह सेल 70 डिग्री से ज्यादा गर्म होने पर 
  • या ओवर चार्जिंग और शार्ट सर्किट होने पर ख़राब हो जाते है।  
  • इनको लगभग 4500 बार चार्ज व डिस्चार्ज किया जा सकता है। 
  • आजकल इन्ही सेल को जायदातर इस्तेमाल किया जाता है 
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
   Ni-Ca, NiMH Cell

  •  इन सेलो की वाल्ट 1.2 के होते है
  • यह कितने भी Ampere हो सकते है 
  • ये सेल Overheat होने पर या 
  • ओवरचार्जिंग से ब्लास्ट हो सकते है।  
  • यह शार्ट सर्किट होने पर पूरी तरह
  •  से डिस्चार्ज हो जाते है।  इनको दुबारा चार्ज किया जा सकता है। 
  • अब इन सेलो का प्रयोग नहीं होता है। 

 

loading...
Check your domain ranking
..

कोई टिप्पणी नहीं

☻यदि आपकी कोई कंप्यूटर लैपटॉप या मोबाइल से सम्बंधित कोई समस्या है। तो आप मुझे कमेंट कर सकते है।
☻समस्या का जल्दी निवारण किया जायेगा।