Menu

लैपटॉप ओवरहीट कर रहा है क्या करे Overheating Problem And Solutions

आमतौर पर लैपटॉप नार्मल हिट करते है।  लैपटॉप में सबसे ज्यादा ओवरहीट सीपीयू से होती है।  जिसके टेम्प्रेचर को कंट्रोल करने के लिए उसके ऊपर कॉपर की एक खास प्रकार के हिट शिंक (गर्मी को सोखने के लिए) लगाई जाती है।  और इस हिट शिंक को ठंडा रखने के लिए एक फैन लगाया जाता है।  यह हिट शिंक वीजीए चिप और सीपीयू दोनों की तापमान को नियंत्रित रखता है।  लैपटॉप में सीपीयू फैन लगातार नहीं चलता है वह तभी चलता है जब हिट शिंक का तापमान एक निश्चित सीमा से ऊपर चला जाता है।  इसके लिए थर्मल डायोड या सेंसर सर्किट का  उपयोग  किया जाता है।

लेकिन यदि लैपटॉप ओवरहीट  होता है तो यह एक गंभीर समस्या है।  लैपटॉप के ओवरहीट होने पर निम्न समस्या आएगी।

  • यदि लैपटॉप चलते चलते हैंग हो जाता है।
  • लैपटॉप बहुत धीरे काम कर रहा है।
  • लैपटॉप ओवर हिट का एरर मैसेज देकर बंद हो रहा है।
  • लैपटॉप कुछ देर चलकर अपने आप रीस्टार्ट हो रहा है।
  • ये सभी संकेत इस और इशारा करते है की आपका लैपटॉप हीट हो रहा है।

लैपटॉप ओवरहीट होने पर कैसे करे समाधान

लैपटॉप में हीट शिंक पर डस्ट आदि जमा हो जाते है जिसके कारण फैन हीट शिंक की गर्मी को बाहर की और नहीं भेज पता और शिंक का तापमान बढ़ता जाता है जिसके कारण लैपटॉप मे सीपीयू सीमा से ज्यादा गर्म हो जाता है और  उसके काम करने की क्षमता पर असर होता है।
इसके लिए हीट शिंक पर से गंदगी को साफ़ करे।

लैपटॉप में सीपीयू पर ज्यादा लोड होने पर भी प्रोसेसर तेज़ी से गर्म होता है।  इसके लिए Task Manger में जाकर बिना मतलब के प्रोसेस को बंद कर दे।

लैपटॉप में वायरस होने पर भी प्रोसेसर बहुत ज्यादा गरम होने लगता है क्युकी प्रोसेसर लगातार काम करता रहता है।  इसके लिए एंटीवायरस से लैपटॉप के सिस्टम को स्कैन करे।

कभी कभी लैपटॉप की बैटरी के गरम होने से भी लैपटॉप ओवरहीट होने लगते है।  ऐसी स्थिति में बैटरी ख़राब हो।

 

 ऊपर दिए हुए उपाय करने पर भी यदि लैपटॉप ओवरहीट कर रहा है तो लैपटॉप के मदरबोर्ड में खराबी है।

  • लैपटॉप में थर्मल सेंसिंग सर्किट काम नहीं कर रहा है।
  • लैपटॉप के मदरबोर्ड में लगे कपैसिटर शार्ट या लीक हो सकते है।  (खासकर सप्लाई पथ पर लगे कपैसिटर )
  • लैपटॉप ने लगा सीपीयू (प्रोसेसर) ख़राब है।
  • लैपटॉप में वीजीए चिप शार्ट हो सकती है
  • लैपटॉप में लगा ग्राफ़िक्स कार्ड या चिप ख़राब हो सकता है।
Read Also:
11 Comments
  1. बेनामी July 6, 2015 / Reply
  2. Ram sumer July 8, 2015 / Reply
  3. Ritik kadole September 11, 2015 / Reply
  4. Neeraj Kumar October 30, 2015 / Reply
  5. Ram sumer November 25, 2015 / Reply
  6. Ram sumer November 25, 2015 / Reply
  7. Nagendra Verma December 10, 2015 / Reply
  8. vipin vats March 1, 2016 / Reply
  9. Unknown October 31, 2016 / Reply
  10. Ritesh Adlakha October 31, 2016 / Reply
  11. nadeem abbad August 13, 2017 / Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *