Laptop Battery Type And Backup

Laptop और Desktop  दोनों ही  बिजली से चलते है। डेस्कटॉप कंप्यूटर में तो बैकअप के लिए यूपीएस का उपयोग किया जाता है लेकिन लैपटॉप में यूपीएस(UPS) न इस्तेमाल करके लैपटॉप के अंदर ही बैटरी लगी होती है। जिससे बिजली के नहीं होने की स्थिति में लैपटॉप कुछ तक चलाया जा सकता है। पहले के लैपटॉप के मुकाबले आज के लैपटॉप में बैटरी की Working Capacity भी बढ़ी है। पहले की बैटरियां जल्दी Discharge हो जाती थी। आज का ये पोस्ट लैपटॉप में कितने तरह की बैटरी का उपयोग होता है और कौन सी बैटरी ज्यादा अच्छी है के बारे में है।

laptop-repair-chip-level

Cmos Battery  

पहले यह जान लेते है बैटरी होती क्या चीज़ है। आपको यह तो पता होगा की इलेक्ट्रिसिटी दो तरह की होती है। AC करंट और DC करंट
AC (Alternative Current ) करंट जो हमारे घरो में ट्रांसफार्मर तथा बिजली के तारो के द्वारा दी जाती है। AC करंट को हम स्टोर या इकठ्ठा नहीं कर सकते।

लेकिन DC( Direct Current ) करंट को स्टोर किया जा सकता है। जिस चीज़ के अंदर DC करंट को स्टोर करते है , उसे ही हम बैटरी या सेल कहते है। यह कई तरह के होते है। तथा सबकी कैपेसिटी भी अलग अलग होती है।

इनमे से एक छोटी बैटरी जिसे आपने डेस्कटॉप मदरबोर्ड में लगा हुआ ,देखा होगा ,जो रियल टाइम क्लॉक और सिमोस रैम(CMOS RAM) को चलने के लिए प्रयोग की जाती है।

बैटरी मुख्यतः तीन प्रकार की होती है।

निकिल कैडमियम(Ni-Cad) :

 Ni-Cad Battery 
 पुराने लैपटॉप में इस तरह की बैटरी का इस्तेमाल होता था। यह बैटरी लगभग दो घंटे का बैकअप देती है यदि यह फुल चार्ज हो तो। लेकिन इसमें चार्जिंग सम्बंधित दोष होने के कारण धीरे धीरे इसका बैकअप टाइम काम हो जाता है।

क्यूंकि इसके सेल्स में गैस के बुलबुले आ जाते है , जिसको हटाने के लिए इसे पूरी तरह से डिस्चार्ज करना पड़ता है। यदि पूरी तरह से डिस्चार्ज नहीं होती तो यह ओवरचार्जिंग के कारण फट सकती है। इस लिए अब इस बैटरी का इस्तेमाल बहुत   ही कम या न के बराबर ही होता है।

निकिल मेटल  हाईड्रेड :(Ni-MH) 

Ni-MH
 लिथियम आयन बैटरी और निकिल कैडमियम के बीच की यह बैटरी भी निका की तरह चार्जिंग मेमोरी इफ़ेक्ट से प्रभावित होती से लेकिन पहले की बैटरी की तुलना में इसका प्रभाव कुछ काम होता है।

लियॉन बैटरीज : (Li-ON)

आज कल आने वाले सभी लैपटॉप और मोबाइल की बैटरीज इसी श्रेणी की आती है क्यूंकि इसमें मेमोरी इफेक्ट बिलकुल भी नहीं होता है। यह वजन में हलकी और पतली होती है। इस तरह की बैटरी को 3500 से 4500 बार चार्ज किया जा सकता है , यह बैटरीज और बैटरी की तुलना में ज्यादा समय तक चलती है। इस तरह की बैटरी को सॉफ्टवेयर मैनेजमेंट के द्वारा बैटरी लाइफ को बढ़ाया जा चकता है।


अगर आप कंप्यूटर और मोबाइल के बारे में अधिक  जानकारी चाहते है तो SUBSCRIBE करना न भूले। अपने FACEBOOK पर शेयर जरूर करे।

Laptop Battery Type, Laptop Battery Charging Circuit Repair, Laptop Adaptor, Mobile Battery, Motherboard Battery, Laptop Battery Backup Time Increase. Battery Booster, Battery Saver, Charging Indicating Software Device.

loading...
Check your domain ranking
..

कोई टिप्पणी नहीं

☻यदि आपकी कोई कंप्यूटर लैपटॉप या मोबाइल से सम्बंधित कोई समस्या है। तो आप मुझे कमेंट कर सकते है।
☻समस्या का जल्दी निवारण किया जायेगा।